राष्ट्रीय  बाघ संरक्षण प्राधिकरण के डीआईजी सुरेंद्र मेहरा ने कॉर्बेट नेशनल पार्क के निर्माणाधीन रेस्क्यू सेंटर का किया निरक्षण

रिर्पोट- राजेन्द्र सिंह रावत /
 राष्ट्रीय बाघ संरक्षण प्राधिकरण (एनटीसीए) डीआईजी सुरेंद्र मेहरा ने कॉर्बेट नेशनल पार्क की ढेला रेंज में निर्माणाधीन रेस्क्यू सेन्टर के निरीक्षण के दौरान व्यवस्थाओं की जानकारी ली। उन्होंने कहा कि कंडी मार्ग को जनहित के लिए खोला गया है। कॉर्बेट के तीन बाघ राजाजी में शिफ्ट किए जाएंगे। पार्क में लगातार बाघ बढ़ रहे हैं, बताया कि भविष्य में अन्य जगहों पर भी बाघ शिफ्ट करने पर विचार किया जा सकता है। बताया कि अभी तक राज्य व टाइगर रिजर्वों के बाघों की गणना के नतीजे एक साथ जारी नहीं हो रहे थे, अब एनटीसीए एक साथ राज्यों व टाइगर रिजर्वों के बाघों की गणना को जारी करने पर मंथन कर रहा है।
शुक्रवार को बाघ संरक्षण प्राधिकरण के डीआईजी सुरेन्द्र मेहरा ने कॉर्बेट कार्यालय में प्रेसवार्ता की। कहा कि रामनगर से कोटद्वार को जोड़ने वाले कंडी मार्ग को जनता का हित देखते हुए आम यातायात के लिए खोला गया है। उन्होंने बताया कि बाघों की सुरक्षा के लिए महकमा पूरी तरह से मुस्तेद है। बाघों की गणना के बारे में उन्होंने कहा कि गणना का कार्य अपने निर्धारित समय से किया जायेगा। बताया कि अभी तक राज्यों व टाइगर रिजर्वों में किए गए बाघों की गणना का विशलेषण कर अलग-अलग तिथियों पर नतीजे जारी किए जा रहे थे। बताया कि अब एनटीसीए एक साथ बाघों की गणना की घोषणा करने पर विचार कर रहा है। 2022 में विश्व टाइगर दिवस पर राज्यों व टाइगर रिजर्वों की बाघों की गणना के नतीजे जारी करने पर विचार किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि कॉर्बेट में अधिक बाघ हैं। देश के 50 टाइगर रिजर्वों में कॉर्बेट पहले स्थान पर है। इस दौरान डाइरेक्टर राहुल,डिप्टी डायरेक्टर कल्याणी,एसडीओ रमाकांत तिवारी, रेंजर संदीप गिरी, राजकुमार आदि मौजूद रहे।
Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *