Connect with us
Advertisement

उत्तराखंड

वित्त मंत्री ने सदन में पेश किया बजट, क्या है खास है बजट में जानिए

Newsupdatebharat Uttarakhand Dehradun Report News Desk
देहरादून – राज्य के वित्त मंत्री प्रेमचंद अग्रवाल ने सदन में बजट पेश किया।
सरकारी विभागों में नवपरिवर्तन पर सरकार का फोकस
कर्षि क्षेत्रों को बढ़ावा देने पर कार्य
बेहतर कनेक्टिविटी बनाने पर कार्य
पूंजीगत परियोजनाओं से बनेगा राज्य का भविष्य सुनहरा
केंद्र पोषित व बाह्य सहायतित योजनाओं को तेजी से लागू करेंगे
1 हजार 930 करोड़ की योजना से टिहरी झील का विकास
ग्रामीण महिलाओं को आर्थिक रूप से मजबूत बनाने पर कार्य
1 हजार 750 की लागत से देहरादून से मसूरी परियोजना की भारत सरकार से स्वीकृति
2 हजार 812 करोड़ की अर्बन योजना की स्वीकृति
स्वच्छ पेयजल के लिए जायका के माध्यम से 1 हजार 600 करोड़ की योजना
14 हजार 387 करोड़ की वाह्य सहायतित योजना की सौगात केंद्र ने दी है
मुख्यमंत्री सीमान्त क्षेत्र विकास योजना वित्तीय वर्ष 2022-23 में रूपए 20 करोड़ की धनराशि का प्रावधान किया गया है।
सामुदायिक फिटनेस उपकरण (ओपन जिम) हेतु वित्तीय वर्ष 2022-23 में रूपए 10 करोड़ का प्रावधान किया गया है।
गौसदनों की स्थापना हेतु वित्तीय वर्ष 2022-23 में रूपए 15 करोड़ की धनराशि का प्रावधान किया गया है।
मुख्यमंत्री एकीकृत बागवानी विकास योजना’ के अन्तर्गत वित्तीय वर्ष 2022-23 में रूपए 17 करोड़ की धनराशि का प्रावधान किया गया है।
 चाय विकास योजना’ हेतु वित्तीय वर्ष 2022-23 में रूपए 18.40 करोड़ की धनराशि का प्रावधान किया गया है।
“मेरा गांव मेरी सड़क” के अन्तर्गत प्रत्येक विकासखण्ड में दो सडक निर्माण हेतु वित्तीय वर्ष 2022-23 में रूपए 13.48 करोड़ की धनराशि का प्रावधान किया गया है।
 अटल उत्कर्ष विद्यालय’ योजना हेतु वित्तीय वर्ष 2022-23 में रूपए 12.28 करोड़ की धनराशि का प्रावधान किया गया है।
देहरादून में राष्ट्रीय स्तर के प्रतिष्ठित संस्थान सीपेट (CIPET) की स्थापना हेतु वित्तीय वर्ष 2022-23 में रूपए 10 करोड़ की धनराशि का प्रावधान किया गया है।
 मुख्यमंत्री महिला स्वयं सहायता समूह सशक्तिकरण योजना के अन्तर्गत वित्तीय वर्ष 2022-23 में रूपए 7.00 करोड़ का प्रावधान किया गया है।
ग्रामीण क्षेत्रों में स्वास्थ्य संवर्द्धन योजना के अन्तर्गत वित्तीय वर्ष 2022-23 हेतु रूपए 6 करोड़ की धनराशि का प्रावधान किया गया है।
सीमान्त क्षेत्रों में शिक्षा व्यवस्था का सुदृढ़ीकरण एवं युवाओं के पलायन को रोकने हेतु शोबन सिंह जीना विश्वविद्यालय के चम्पावत परिसर की स्थापना हेतु वित्तीय वर्ष 2022-23 में रूपए 5 करोड़ की धनराशि का प्रावधान किया गया है।
 विषम भौगोलिक परिस्थितियों व पर्यावरणी निर्देशांको के दृष्टिगत डिजिटल शिक्षा को बढ़ावा देने हेतु उत्तराखण्ड मुक्त विश्वविद्यालय में आई टी अकादमी व उत्कृष्टता केन्द्र के संचालन के लिए रूपए 05 करोड़ की धनराशि का प्रावधान किया गया है।
 प्रधानमंत्री फसल योजना के अन्तर्गत वित्तीय वर्ष 2022-23 में रूपए 4 करोड़ की धनराशि का प्रावधान किया गया है।
उत्तराखण्ड के समस्त परिवारों को निःशुल्क एवं कैशलैश चिकित्सा उपचार देने के लिए सरकार द्वारा अटल आयुष्मान उत्तराखण्ड योजना हेतु वित्तीय वर्ष 2022-23  में रूपए 310 करोड़ का प्रावधान किया गया है।
 ‘महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारण्टी योजना हेतु वित्तीय वर्ष 2022-23 में रूपए 297.84 करोड़ की धनराशि का प्रावधान किया गया है।
 प्रधानमंत्री आवास योजना (ग्रामीण) हेतु वित्तीय वर्ष 2022-23 में रूपए 311.76 करोड़ की धनराशि का प्रावधान किया गया है।
स्मार्ट सिटी योजना के अन्तर्गत वित्तीय वर्ष 2022-23 में रूपए 205 करोड़ का प्रावधान किया गया है।
दीनदयाल उपाध्याय ग्रामीण कौशल योजना हेतु वित्तीय वर्ष 2022-23 में रूपए 105.41 करोड़ की धनराशि का प्रावधान किया गया है।
राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन के अन्तर्गत वित्तीय वर्ष 2022-23 में रूपए 112.38 करोड़ की धनराशि का प्रावधान किया गया है।
सभी पात्र वृद्धजनों, निराश्रित विधवाओं, दिव्यांगों, आर्थिक रूप से कमजोर किसानों, परित्यक्त महिलाओं को पेंशन दिये जाने हेतु वित्तीय वर्ष 2022-23 में रूपए 1500 करोड़ की धनराशि का प्रावधान किया गया है।
उत्तराखण्ड की महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने हेतु सभी गरीब परिवारों को अन्तोदय कार्ड धारको को एक वर्ष में तीन (03) निःशुल्क एल०पी०जी० सिलेण्डर वित्तीय वर्ष 2022-23 हेतु रूपए 55.50 करोड़ का प्रावधान किया गया है।
 प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना के घटक पर ड्रॉप मोर क्रॉप के अन्तर्गत वित्तीय वर्ष 2022-23 में रूपए 43.15 करोड़ का प्रावधान किया गया है।
सामान्य एवं पिछड़ी जाति के छात्रों के लिए निःशुल्क पाठ्य-पुस्तक उपलब्ध कराने हेतु वित्तीय वर्ष 2022-23 में रूपए 36.86 करोड़ की धनराशि का प्रावधान किया गया। है।
श्यामा प्रसाद मुखर्जी रूर्बन मिशन योजना के अन्तर्गत वित्तीय वर्ष 2022-23 में रूपए 34.00 करोड़ का प्रावधान किया गया है।
 राष्ट्रीय ग्रामीण स्वराज अभियान’ योजना के अन्तर्गत वित्तीय वर्ष 2022-23 में रूपए 30.00 करोड़ का प्रावधान किया गया है।
मुख्यमंत्री पलायन रोकथाम योजना हेतु वित्तीय वर्ष 2022-23 में रूपए 25 करोड़ की धनराशि का प्रावधान किया गया है।
Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

More in उत्तराखंड

उत्तराखण्ड

उत्तराखण्ड

Trending News

Like Our Facebook Page