Connect with us

उत्तराखंड

भू कानून, आर्टिकल, मूल निवास, इनर लाइन परमिट सिस्टम को लेकर युवा बार बार आवाज उठा रहे है।

Newsupdatebharat Uttarakhand
Haldwani Report Yogendra Singh Negi
हल्द्वानी – हल्द्वानी बुद्ध पार्क में श्री देव सुमन की जयंती पर वंदे मातरम ग्रुप के द्वारा आयोजित भू कानून इनर लाइन परमिट सिस्टम मूल निवास 1950 आर्टिकल 371 को लेकर विशाल धरना प्रदर्शन के साथ हुंकार रैली का आयोजन किया गया।
वंदे मातरम ग्रुप के अध्यक्ष शैलेंद्र सिंह दानू ने कहा की आज सरकार के रवैये को देख कर लग रहा है की जैसे भू कानून सिर्फ युवाओं की मांग हो बल्कि हम बता देना चाहते हैं की यह राज्य हम सभी का है और हर किसी को इस राज्य की चिंता होनी चाहिए हम चाहते हैं हर हाल में सख्त से सख्त भू कालू लागू हो।
 विजेंद्र सिंह नेगी ने कहा कि आज उत्तराखंड में जिस तरीके से जमीनों की खरीद-फरोख्त चल रही है और बाहरी लोगों का अतिक्रमण बढ़ रहा है उससे ऐसा लगता है कि एक दिन उत्तराखंड पहाड़ी विहीन हो जाएगा इन हालातों से बचने के लिए आर्टिकल 371 भी हमें चाहिए।
दीपिका नयाल  ने कहा कि सिर्फ भू कानून ही नहीं हमें आर्टिकल 371 मूल निवास 1950 इनर लाइन परमिट सिस्टम भी हर हाल में चाहिए जिससे हम सभी उत्तराखंडी सुरक्षित रह सके।
योगेश बहुगुणा ने कहा कि आज नेताओं को इस मांग को उठाना चाहिए था पर धिक्कार है इस मांग को युवाओं को उठाना पड़ रहा है और सत्ता में बैठी पार्टी के नेता यह कह रहे है कि विपक्ष के द्वारा चुनाव के समय भू कानून की मांग की जा ही है मैं उनसे कहना चाहता हूं कि अगर उत्तराखंड की जमीन बिक गई और पहाड़ों में लोग नहीं रहे तो उन पहाड़ी नेताओं का भविष्य क्या होगा जो आज तक पहाड़ के नाम पर राजनीति की रोटी सेकते हैं।
इस दौरान उत्तराखंड के अलग-अलग क्षेत्रों से लोग धरना प्रदर्शन में शामिल हैं यहां तक कि दिल्ली से भी लोगों ने हलद्वानी आकर धरने प्रदर्शन को अपना समर्थन दिया। और आगे इससे बड़े आंदोलन की चेतावनी दी इस दौरानकिरन खेतवाल, ललित परगाई, चंद्रशेखर पर्गाई, तरुण कांडपाल, नरेंद्र बिनवाल, गर्वित पांडे, गौरव पांडे, ख़ुशाल लिंगवाल मोहित जोशी किरण खेतवाल प्रदीप रावत जगत करायत  आशीष जोशी मौजद रहे।
Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

More in उत्तराखंड

उत्तराखण्ड

उत्तराखण्ड

हल्द्वानी

हल्द्वानी