14 जुलाई की मध्य रात्रि से बसों का संचालन बंद कर अनिश्चितकालीन कार्यबहिष्कार शुरू कर दिया जाएगा। 

Advertisement
Newsupdatebharat/Report  News Sources
Uttarakhand- रोडवेज कर्मचारियों की उत्तराखंड परिवहन निगम के साथ हुई वार्ता विफल रही। जिसके बाद कर्मचारी संगठनों ने कहा कि जब तक बोर्ड बैठक में आधा वेतन कटौती सहित कर्मचारी विरोधी फैसलों को वापस नहीं लेगी, तब तक वह लड़ाई जारी रखेंगे और आंदोलन से पीछे नहीं हटेंगे।
कर्मचारी परिषद् 14 जुलाई मध्यरात्रि से अनिश्चितकालीन हड़ताल शुरू करने जा रहा है। वहीं, संयुक्त मोर्चा 15 जुलाई की मध्य रात्रि से 24 घंटे का अनिश्चितकालीन कार्य बहिष्कार पर रहेगा।
वहीं अब कर्मचारी संगठनों को शासन से वार्ता का इंतजार है। वहीं, परिवहन मंत्री यशपाल आर्य ने कहा, हड़ताल से समस्या का समाधान नहीं होगा। हमने सभी कर्मचारी संगठनों से कहा है कि वह एक साथ हो जाएं। अभी तो बसों का संचालन शुरू हुआ है। तीन महीने में 50 करोड़ का नुकसान हुआ है। पिछले साल 161 करोड़ का नुकसान हुआ था। कर्मचारी नेता हड़ताल के बजाय परिवहन निगम को आगे बढ़ाने के बारे में सोचें।
उत्तराखंड परिवहन निगम के आधा वेतन भुगतान फैसलों से खफा कर्मचारी अब आर-पार की लड़ाई को तैयार हैं। हल्द्वानी रोडवेज स्टेशन पर इस मुद्दे पर रोडवेज कर्मचारी संयुक्त परिषद मंडल की आम बैठक हुई। जिसमें समस्याओं के खिलाफ, लड़ाई के लिए आंदोलन की रणनीति तैयार की गई।
 क्षेत्रीय अध्यक्ष आन सिंह जीना की अध्यक्षता में बैठक में कुमाऊंभर से आए कर्मचारियों ने हिस्सा लिया। इसमें निगम प्रबंधन को चेतावनी दी गई कि समस्याओं का समाधान नहीं हुआ तो 14 जुलाई की मध्य रात्रि से बसों का संचालन बंद कर अनिश्चितकालीन कार्यबहिष्कार शुरू कर दिया जाएगा।
वक्ताओं ने कहा कि निगम आधा वेतन भुगतान का आदेश जारी कर देता है। अनुबंधित बसों को तरजीह दी जा रही है। बैठक में प्रदेश अध्यक्ष विक्रम डंगवाल, भूपेंद्र अधिकारी, आरएस नेगी, डूंगर सम्मल, चंद्रशेखर, अनवर कमाल, विनीत पाठक, हंसा, गोविंद प्रसाद, मनोहर जोशी आदि रहे।
Spread the love
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *