31 दिसंबर और नए वर्ष पर जिम कॉर्बेट नेशनल पार्क पहुंचने वाले पर्यटकों के लिए बड़ी खबर ।

मनीष उपाध्याय  रामनगर का कॉर्बेट नेशनल पार्क में देश के सबसे ज्यादा बाघ पाए जाते हैं। इसलिए यह पार्क देश-विदेश के पर्यटकों के लिए आकर्षण का केंद्र भी रहता है। सर्वाधिक बाघों की संख्या वाला पार्क है यहां पर्यटक के घूमने के लिए पसंदीदा है। इसलिए कॉर्बेट नेशनल पार्क के रामनगर में 30 दिसंबर से 1 जनवरी के बीच पर्यटकों का सैलाब उमड़ आता है। पर इस बार कोविड-19 के बीच में नववर्ष का आगाज हो रहा है,जिसको लेकर के कॉर्बेट प्रशासन के साथ ही स्थानीय प्रशासन ने कमर कस ली है। आपको बता दें कि जिम कॉर्बेट नेशनल पार्क में भ्रमण के लिए www.corbettonline.gov ऑनलाइन पर जाकर अपनी पसंदीदा ज़ोन में भ्रमण एवं नाईट स्टे के लिए आवेदन करना होता है। पर आपको बता दें कि इस वक्त कॉर्बेट में 30,31दिसंबर और 2 जनवरी तक कॉर्बेट के सभी सफारी व नाईट स्टे जोन फूल चुका है ,इस वक्त आपको कोर्बेट के किसी भी जोन में 1जनवरी तक घूमने का मौका नहीं मिलने वाला।

इस विषय में ज्यादा जानकारी देते हुए कॉर्बेट नेशनल पार्क के निदेशक राहुल कुमार ने बताया कि टूरिस्ट के लिए जो कॉर्बेट पार्क में भ्रमण पर आना चाहते हैं वह हमारी कॉर्बेट की ऑफिशियल वेबसाइट पर जाकर रजिस्ट्रेशन करवा सकते हैं। उसके जरिए आप सफारी और डेविड के लिए बुकिंग करवा सकते है। राहुल कुमार ने बताया कि राज्य सरकार की जो कोविड19 की गाइडलाइन है उनको फॉलो किया जा रहा है। इसके तहत आने वाले पर्यटकों की थर्मल स्कैनिंग करवाने के साथ ही उनके वाहनों को सेनेटाइज भी करवाया जा रहा है .हमने सभी कॉर्बेट के रेंज अधिकारियों को सख्त निर्देश दिए हैं कि बिना मास्क के किसी भी पर्यटक की कॉर्बेट पार्क के अंदर एंट्री नहीं होगी और पर्यटकों द्वारा पार्क के अंदर मास्क उतारने पर पर्यटकों पर कार्रवाई भी हो सकती है। साथ ही जो हमारे कॉर्बेट नेशनल पार्क से ढिकाला बिजरानी व अन्य जोनों में रात्रि विश्राम की सुविधा है वहां हमारे द्वारा कमरों के अंदर ऑक्सीजन की सुविधा भी रखी गई है अगर किसी की तबीयत या सांस लेने में दिक्कत होती है तो तुरंत उसको नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र में उपचार के लिए लाया जाएगा, जिसके लिए हमारी पूरी टीम तैनात है।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *