उत्तराखंड कांग्रेस के सह प्रभारी राजेश धर्माणी ने किया सल्ट उपचुनाव विधानसभा जीत का दावा

Advertisement

रिर्पोट –  संजय सिंह कडाकोटी ///

सल्ट विधानसभा के उपचुनाव में कांग्रेस प्रत्याशी की ऐतिहासिक जीत का दावा करते हुए पार्टी के प्रदेश सह प्रभारी राजेश धर्माणी ने कहा कि पार्टी प्रत्याशी की है जीत 2022 में होने वाले विधानसभा चुनाव की नीव में मील का पत्थर साबित होगी। बुधवार को उत्तराखंड कांग्रेस के राज्य सह प्रभारी राजेश धर्माणी ने कहा कि उत्तराखंड में भाजपा सरकार के 4 वर्ष का कार्यकाल पूरी तरह निराशाजनक रहा है तथा इस कार्यकाल में जमकर भ्रष्टाचार भी हुआ है उन्होंने कहा कि भाजपा हाईकमान ने अपनी नाकामी को छुपाने के लिए प्रदेश के मुखिया परिवर्तन को लेकर एक टीएसआर को हटाकर दूसरे टीएसआर को प्रदेश की कमान सौंप दी जनता ने तीरथ सिंह रावत से मुख्यमंत्री बनने के बाद कई उम्मीद सोची थी लेकिन मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने भी लगातार अपनी बेजवानी टिप्पणी को लेकर चर्चाओं का बाजार गर्म कर दिया पहले उन्होंने महिलाओं की फटी जींस को लेकर एक विवाद खड़ा किया तो वही उसके बाद उन्होंने 200 वर्ष अमेरिका का गुलाम रहने के साथ ही लोगों से ज्यादा बच्चे पैदा करने का बयान देकर प्रदेश की जनता का अपमान किया है उन्होंने कहा कि प्रदेश के मुख्यमंत्री को अभी इतिहास का ज्ञान भी कम है ।0

उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने विपक्ष में रहकर सरकार की जनविरोधी नीतियों का हमेशा विरोध किया है और यह विरोध जारी रहेगा उन्होंने कहा कि आज मुख्यमंत्री प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तुलना भगवान से करते हुए जनता का अपमान कर रहे हैं तथा सरकार जनता की समस्या सुलझाने के बजाय गलत बयान बाजी कर जनता को भ्रमित करने पर लगी हुई है उन्होंने कहा कि आज भाजपा ने प्रदेश की जनता के साथ पूरी तरह वादाखिलाफी की है तथा प्रदेश में महंगाई बेरोजगारी की समस्या जहां एक ओर चरम सीमा पर है तो वहीं प्रदेश की जनता स्वास्थ्य, पानी, बिजली की सुविधाओं से भी वंचित है यदि जनता सड़क की मांग को लेकर आंदोलन करती है तो सरकार उन पर लाठी चार्ज करा कर जनता की आवाज को दबाने का काम कर रही है उन्होंने कहा कि सल्ट विधानसभा के उपचुनाव में कांग्रेस प्रत्याशी गीता पंचोली की ऐतिहासिक जीत होगी तथा सरकार के 4 साल के कार्यकाल से जनता पूरी तरह नाराज है और सल्ट की जनता इस चुनाव में भाजपा को मुंहतोड़ जवाब देगी साथ ही उन्होंने कहा कि यह उपचुनाव 2022 में होने वाले विधानसभा चुनाव में एक नया इतिहास रचेगा तथा प्रदेश में फिर से कांग्रेस की सरकार पूर्ण बहुमत के साथ स्थापित होगी उन्होंने कहा कि उत्तराखंड में यह तीसरा उपचुनाव है और भाजपा के नेता कांग्रेस पर परिवारवाद की राजनीति करने का आरोप लगाते हैं लेकिन तीनों उपचुनाव में भाजपा द्वारा बाहरी लोगो को टिकट न देकर परिवार के लोगों को ही टिकट दिया गया है इससे स्पष्ट है कि कौन सी पार्टी परिवार बाद की राजनीति कर रही है।

Spread the love
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *