उत्तराखंड की संस्कृति को बचाने और संवारने का जिम्मा उठाया चेतना ने

Advertisement

 

राजेंद्र सिंह रावत / संजय सिंह कडाकोटी

वैसे तो हमारी संस्कृति देश विदेश में देखने को मिलती है लेकिन बदलते युग के साथ हमारे उत्तराखंड की संस्कृति भी हाईटेक जमाने के साथ थोड़ा सा  पीछे छूटती हुई दिखाई  देती है  लेकिन  कुछ  युवा  और युवतियों  ने इसका बेड़ा उठाया है और उत्तराखंड की संस्कृति को हाईटेक जमाने के साथ हाईटेक करते हुए  देश और दुनिया के सामने बढ़ाने और सवारने  का कार्य  कर रहे हैं क्योंकि युवा पीढ़ी और आने वाली जनरेशन जान सके इसलिए इस वक्त कई ऐसे चेहरे उत्तराखंड और उत्तराखंड के बाहर देखने को मिल रहे हैं जो कि कुमाऊ की संस्कृति को बढ़ाने के साथ ही साथ लोगों को रोजगार भी मुहैया करवा रहे हैं ऐसी ही एक उत्तराखंड की बेटी चेतना जो कि रामनगर के एक छोटे से गांव (खेमपुर गैबूआ ) मैं निवास करती है

चेतना रावत की मेहनत और लगन के कारण आज चेतना को उत्तराखंड के अलग-अलग  जगह के साथ ही देश के बड़े-बड़े महानगरों से लोग चेतना को ऐपण के द्वारा तैयार किए गए कई तरह के सुंदर  चीजों और सजावट की वस्तु के साथ ही अन्य बहुत से ऐपण की रंगों और सजावट से बने समान लेने के लिए लोग चेतना के पास पहुंच रहे हैं या फिर उनसे संपर्क  कर रहे हैं ।
 अगर आप भी चेतना के द्वारा बनाए गए खूबसूरत उत्तराखंड की  खूबसूरती और संस्कृति के द्वारा बनाए गए खूबसूरत चीजें लेना चाहते हैं या आप चेतना से संपर्क करना चाहते हैं तो  6395752397 फोन नंबर पर और /( संस्कृति पहाड़ी ऐपण  )फेसबुक पर सर्च करें।
नोट- अगर आप भी कुछ कर रहे हैं अलग और आप चाहते हैं कि देश और दुनिया तक आपकी बात और आपके काम पहुंचे तो आप हमसे संपर्क कर सकते हैं 9761119990 हम अपनी न्यूज़ वेबसाइट के माध्यम से आपकी आवाज और आपके कार्यों को देश की जनता तक पहुंचाने का कार्य करेंगे –   आप हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से  भी जुड़ सकते हैं  https://chat.whatsapp.com/JEm4V01nHLn3DxLp0LHgz8

 

Spread the love
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *