चारों तरफ विरोध के बाद इंदिरा से मुख्यमंत्री और फिर खुद भगत ने भी मांगी माफी..

Advertisement
 ब्यूरो रिपोर्ट –
जब पूरे प्रदेश भर में बंशीधर भगत के बयान की आलोचना हुई और फेसबुक से लेकर टि्वटर तक राजनीति में बयान बाजी और सोशल मीडिया पर लड़ाई होने के बाद प्रदेश के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने खुद इंद्रा  से माफी मांगी उसके बाद प्रदेश के कई कांग्रेस और भाजपा के नेताओं के बीच बयानबाजी का दौर शुरू हुआ और फिर खुद भाजपा प्रदेश अध्यक्ष बंशीधर भगत ने भी ट्वीट के जरिए और वीडियो जारी करके इंदिरा हरदेश से माफी मांगी और कहा कि मैं मेरे कहे हुए शब्द का कोई ऐसा विचार नहीं था फिर भी मैं अपने शब्द वापस लेता हूं
 भाजपा प्रदेश अध्यक्ष बंशीधर भगत और नेता प्रतिपक्ष इंदिरा हृदयेश की आमने सामने की जंग जारी है। बंशीधर भगत द्वारा नेता प्रतिपक्ष इंदिरा हिरदेश के कई भाजपा के विधायकों के संपर्क में होने के बयान के जवाब में कहा गया था कि भाजपा के विधायकों का संपर्क तो छोड़िए  नेता प्रतिपक्ष इंदिरा हृदयेश और उनके पुत्र ही कही भाजपा में न आ जाएं।
इस बयान को लेकर नेता प्रतिपक्ष इंदिरा हृदयेश ने बंशीधर भगत पर पलटवार करते हुए कहा कि बंशीधर भगत हमारे बारे में सोचना छोड़े वह खुद अपने टिकट की चिंता करें कि उन्हें इस बार टिकट मिलेगा या नहीं, नेता प्रतिपक्ष इंदिरा हृदयेश ने कहा कि वह खुद एक पार्टी संगठन की प्रदेश की मुखिया है उन्हें हमारे बारे में सोचने की आवश्यकता नहीं है, वही नेता प्रतिपक्ष के पुत्र सुमित हृदयेश ने कहा कि बंशीधर भगत खिसयाहट में ऐसे बयान दे रहे हैं हमें जानकारी मिल रही है कि खुद भगत जी का टिकट ही खतरे में है हमें भाजपा का टिकट नहीं चाहिए हम जन्मजात कांग्रेसी हैं।
Spread the love
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *