कोरोना काल में जहां जिंदगी और मौत से जूझ रहा था उत्तराखंड वही फायदा उठा रहे थे कुछ अस्पताल अब हो रहे हैं मुकदमे दर्ज

Advertisement

News update Bharat report

Udham Singh Nagar UK- कोरोना काल मे जहां राज्य और केंद्र सरकारें उन परिवारों की हर संभव मदद करने का  भरोसा दे रही हैं जो परिवार कोरोना की बजह से अनाथ हो गए या उनके परिवार का मुखिया इस कोरोना के शिकार हो गए लेकिन उधम सिंह नगर में एक निजी  हॉस्पिटल है इसी हॉस्पिटल का इंसानियत को तार तार कर देने वाला मामला सामने आया है। अनाथ हुए परिवार को इनकी मनमानी की बजह से भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है।

इनके परिवार में कोरोना से पिता की मौत से सात बच्चे अनाथ हो गए हैं  अस्पताल ने इनके हाथों में लाखों का बिल थमा पिता के मृत्यु प्रमाणपत्र देने की बात कही है ,अस्पताल के चक्कर काटने पर मजबूर कर दिया और कहा जब तक बिल नही दोगो जब तक डेथ सर्टिफिकेट नही दिया जाएगा । पीड़ित की बार बार अधिकारियों की शिकायत के बाबजूद किसी प्रकार भी करवाही नही हो रही है पीड़ित परिवार को दर दर की ठोकरें खाने पर मजबूर होना पड़ रहा है जिसका नतीजा है कि इस कोरोना पीड़ित परिवार को हॉस्पिटल की मनमानी के चलते किसी प्रकार की सरकारी मदद नही मिल पा रही है।

वहीं कोरोना मरीजों के इलाज के लिए सरकार द्वारा क्षेत्र के कुछ निजी अस्पतालों को कोविड मरीजों के इलाज के लिए अधिकृत किया गया था, जिसके लिए सरकार मूल्य निर्धारित कर इलाज के निर्देश भी दिये थे, लेकिन निजी अस्पतालों ने सरकारी मूल्यों से अधिक की वसूली कर मरीजों से मनमाने ढंग से पैसा वसूली की थी, जिसको लेकर मरीजों के परिजनों ने पुलिस से इसकी शिकायत दर्ज की थी, शिकायत के बाद पुलिस और प्रशासन ने इस मामले की जांच की, जिसमें आयुष्मान हॉस्पिटल द्वारा अधिक शुल्क लेने की पुष्टि होने पर काशीपुर पुलिस ने मुकदमा पंजीकृत कर लिया है, वहीं अब मुकदमा दर्ज होने के बाद पुलिस जल्द ही कार्यवाही करने की बात कह रही है।

 

Spread the love
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *