बाघ और तेंदुए के हमलों से दहशत में लोग 1 दर्जन से अधिक घायल कई घरों के बुझे चिराग

रिर्पोटर – संजय काडाकोटी

उत्तराखंड में लगातार मानव जीव संघर्ष की घटनाएं बढ़ रही है 1 हफ्ते के अंदर की बाघ, तेंदुए के आतंक से उत्तराखंड में अधिकतर जगह लोग दहशत में हैं रामनगर ,हल्द्वानी ,अल्मोड़ा, बागेश्वर सभी स्थानों पर मानव जाति पर लगातार हमला हुआ है 1 सप्ताह के अंदर ही 1 दर्जन से अधिक लोगों को जानवरो द्वारा घायल किया जा चुका है जबकि आधा दर्जन लोगों को अब तक जंगली जानवरों ने मौत के घाट उतार दिया है ।

रामनगर जंगल में घास काटने गई दो महिलाओं पर मादा बाघ ने हमला कर गंभीर रूप से घायल कर दिया। घायल महिलाओं को उपचार के लिए सरकारी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। जानकारी के अनुसार मंगलवार की सुबह ग्राम चोरपानी निवासी 52 वर्षीय भारती देवी व 55 वर्षीय आशा देवी अपने घर के समीप स्थित जंगल में अपने पालतू पशुओं के लिए घास काटने गई हुई थी। इसी बीच कॉर्बेट टाइगर रिजर्व की बिजरानी रेंज के चोर पानी स्रोत पर घात लगाए बैठी मादा बाघिन ने दोनों महिलाओं पर अचानक हमला बोल दिया

महिलाओं के शोर मचाने पर यह बाघिन उन्हें लहूलुहान कर जंगल की ओर रवाना हो गई घटना के बाद मौके पर पहुंचे लोगों ने घायल महिलाओं को उपचार के लिए सरकारी अस्पताल में भर्ती कराया जहां उनका उपचार चल रहा है। मामले में पार्क वार्डन आर के तिवारी ने बताया कि इस इलाके में मादा बाघिन अपने बच्चों के साथ घूम रही है तथा पूर्व में वह वन कर्मियों पर भी हमला कर चुकी है। उन्होंने कहा कि बच्चों के साथ घूमने के दौरान बाघिन काफी आक्रमक हो जाती है। उन्होंने कहा कि इस क्षेत्र में वन कर्मियों की गस्त शुरू कर दी गई है साथ ही उन्होंने ग्रामीणों से भी अकेले जंगल में न जाने की अपील करते हुए कहा कि घायल महिलाओं को विभाग द्वारा नियमानुसार मुआवजा देने की कार्रवाई की जाएगी।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *