गजराज के तांडव का शिकार हुए गौला के मजदूर, 1 की मौत ,3 घायल

Advertisement

रिपोर्ट-राहुल सिंह दरमवाल

बुधवार देर रात जंगली हाथियों ने जबरदस्त तांडव मचाया। जिसमें एक गौला मजदूर की मौत हो गयी जबकि 3 की हालत बेहद गंभीर है, गौला नदी मजदूरो की बस्ती में हाथियों के झुंड ने धावा बोलते हुए मजदूर को पैरों तले कुचल डाला जिससे उसकी मौके पर ही मौत हो गयी ।जबकि तीन घायल हो गए। जिनमें दो गंभीर घायलों को उपचार के लिए सुशीला तिवारी अस्पताल हल्द्वानी में भर्ती कराया गया है।
घटना की सूचना मिलते ही वन विभाग एवं पुलिस की टीम मौके पर पहुंची घटना से पूरे क्षेत्र में हडकंप मचा हुआ है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार बुधवार रात तराई पूर्वी वन प्रभाग गौला रेंज अंतर्गत हाथियों के झुंड ने आतंक मचाते हुए रावत नगर प्रथम स्थित तीन मंदिर के पास गौला नदी किनारे झोपड़ी में खाना खा कर सोने की तैयारी कर रहे मजदूरों पर हमला बोल दिया। जब तक मजदूर कुछ समझ पाते हाथी ने एक मजदूर के पेट में पैर रखकर कुचल दिया जबकि तीन मजदूरों को गंभीर रूप से घायल कर दिया रावत नगर प्रथम स्थित तीन मंदिर के पास गौला नदी किनारे बिहार व यूपी के करीब दो दर्जन मजदूर झोपड़ी बनाकर रहते है। बुधवार की सांय को दिन भर थक हार कर सभी मजदूर खाना खा कर सोने की तैयारी कर रहे थे । तभी इमलीघाट की तरफ से आए पांच हाथियों के झुंड ने उनकी झोपड़ी पर हमला कर दिया। जब तक मजदूर कुछ समझ पाते तब तक हाथी ने भुटेली पुत्र वर्मा खरवार निवासी घगरु चंपारण बिहार के सीने में पैर रखकर कुचल दिया। जबकि दूसरे हाथी ने केदार पुत्र चंद्रिका कुबेर स्थान, कुशीनगर यूपी व अनुरुद्ध पुत्र वर्मा खरवार निवासी घगरु चंपारण बिहार को पटक दिया। हाथियों के हमले में भुटेली ने मौके पर ही दम तोड़ दिया। जबकि केदार व अनरुद्ध को गंभीर रूप से घायल हो गए। जबकि कुशीनगर यूपी निवासी राघव को भी चोटे आई है। घायलों को सुशीला तिवारी अस्पताल में भर्ती कराया गया है।पिछले कई दिनों से इस इलाके में हाथियों का आतंक जारी है कभी घरों को नुकसान पहुंचा ना तो कभी फसल को पैरों तले रौंदना रोजाना की बात है लेकिन आज श्रमिकों पर हुए जानलेवा हमले के बाद इलाके के लोग दहशत में आ गए हैं 

Spread the love
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed