बेटी का नाम बनेगा घर की पहचान,नैनीताल जिले में पहल हुई शुरू ।

Advertisement

मनीष उपाध्याय // बेटियों को बढ़ावा देने और समाज को नई दिशा देते हुए मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने ” घरैकी पहचाण चेलि को नाम” कार्यक्रम की शुरुआत आज टीआरसी भीमताल में आयोजित कार्यक्रम के दौरान की ।प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के “बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ “अभियान को नई दिशा देते हुए इस कार्यक्रम के तहत परिवार की सबसे छोटी बेटी के नाम पर उस घर की पहचान पट्टीका लगाई जाएगी

इस परंपरा की शुरुआत प्रथम चरण में नैनीताल जिले की नैनीताल नगर पालिका से की गई है और जिले के सभी विकास खंडों से एक एक गांव को चयनित किया गया है खास बात यह है कि इस पट्टी का को कुमाऊनी शैली की ऐपण कला के जरिए बनाया जाएगा जिससे स्थानीय कलाकारों को भी प्रोत्साहन दिया जा सके मुख्यमंत्री रावत ने कहा कि यह छोटी सी कोशिश एक दिन बड़ा अभियान बनेगी और हर घर का नाम उनकी बेटी के नाम पर होगा

Spread the love
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed