प्रदेश की बहुचर्चित छात्रवृत्ति घोटाले को उजागर करने वाले दलित एक्टिविस्ट की गोली लगने से हुई मौत,

रिपोर्ट -राहुल सिंह दरम्वाल //

कुछ समय पूर्व राज्य के कई जाने-माने कॉलेजों के नाम पर फर्जी छात्रवृत्ति घोटाले को सामने लाने वाले  दलित एक्टिविस्ट पंकज लांबा की बीती रात्रि गोली लगने से मौत हो गयी , मिली जानकारी के अनुसार गोली चलाने का आरोप एक नाबालिग लड़की पर लगा है, जो पंकज के घर पर किराये में रहती है, वही जिस पिस्टल से गोली लगी है, वह पंकज की अपनी लाइसेंसी पिस्टल थी।
गोली लगने के बाद पंकज को तुरंत अस्पताल ले जाया गया ,जहां डॉक्टरों ने उनको मृत घोषित कर दिया।

जानकारी के अनुसार देर रात पंकज पार्टी कर रहे थे इस बीच पार्टी में उनके घर किराये में रहने वाली दो नाबालिग बहनें भी शामिल थी,जानकारी के अनुसार पंकज ने इनमें से एक लडकी को अपनी पिस्टल थमा दी जिसके बाद ,नाबालिग लड़की ने गोली चला दी,
जो पंकज की गर्दन में जा लगी।। मिली जानकारी के अनुसार सामने आया है कि पिस्टल को खाली किया गया था लेकिन पिस्टल के एक चैम्बर में फसी एक गोली पंकज की मौत का कारण बन गयी हालांकि खेल-खेल में पिस्टल का ट्रिगर दबाने की बात सामने आयी है लेकिन गोली लगने का असल कारण पुलिस की जांच के बाद ही साफ होगा सकेगा । वही पुलिस मामले की जांच में जुट गई है।

बताया जा रहा है कि दोनों लड़कियों के पिता दिल्ली में रहते हैं। पिता की दो शादियां हैं। पिता की दूसरी शादी होने के बाद दोनों लड़कियां पंकज के को हरिद्वार स्थित घर में किराए पर रहती हैं। गौरतलब है कि पंकज लांबा की पहचान दलित एक्टिविस्ट के रूप में भी थी। उन्होंने उत्तराखंड में छात्रवृत्ति घोटाले का पर्दाफाश किया था। इस घोटाले के उजागर होने से  में सामने आए थे।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed