शिकारियों की बंदूक का निशाना होगा अब नरभक्षी गुलदार

Advertisement

रिपोर्ट – योगेन्द्र नेगी

उत्तराखंड में वैसे तो लगातार वन्य जीव और मानव संघर्ष की घटनाएं हर रोज देखने को मिलती है लेकिन इस समय सुर्खियों में हल्द्वानी से कालाढूंगी के बीच का क्षेत्र है क्योंकि इस क्षेत्र में लगातार गुलदार ने आधा दर्जन लोगों पर हमला कर दिया है कालाढूंगी के रामनगर वन प्रभाग के फतेहपुर रेंज में अब तक 6 लोगों पर हमला करने वाले गुलदार को नरभक्षी घोषित कर दिया गया है….

आक्रोशित ग्रामीणों के धरना प्रदर्शन के बाद वन विभाग ने दो शिकारियों को गुलदार को पकड़ने या शूट करने का आदेश जारी कर दिया है, जिसके बाद फतेहपुर रेंज में दो शिकारी 24 घंटे गुलदार की धरपकड़ के लिए तैनात कर दिए हैं, इसके अलावा 8 कैमरों की मदद से गुलदार को ट्रैप करने की भी कोशिश की जा रही है।

घने जंगल में काम्बिंग करते वन कर्मियों की तस्वीरें रामनगर वन प्रभाग के फतेहपुर रेंज की है, छह लोगों पर जानलेवा हमला करने वाले गुलदार को आखिरकार वन विभाग ने नरभक्षी घोषित कर ही दिया, जिसके बाद गुलदार को पकड़ने या शूट करने के लिए दो शिकारियों की तैनाती भी यहां कर दी है… लगातार घने जंगल में गुलदार की तलाश तेज कर दी गई है, इसके अलावा वन विभाग की दो टीमें दिन-रात गुलदार की तलाश में जुटी है….और दो पिजरे भी लगाए गए हैं,

 

8 कैमरों की मदद से गुलदार को ट्रैप करने की कोशिश की जा रही है लेकिन बावजूद इसके अब तक गुलदार का कहीं कोई नामोनिशान नजर नहीं आया है… शूटर्स के मुताबिक गुलदार के पंजों को पहचानने की कोशिश की जा रही है जिससे गुलजार की मूवमेंट का पता चल सके। वन क्षेत्राधिकारी के मुताबिक वन विभाग की गश्त जारी है ….उम्मीद है की जल्द ही गुलदार को या तो मार दिया जाएगा या पकड़ लिया जाये.
ग्रामीणों के मुताबिक गुलदार का खौफ लगातार जारी है, दिन में 4 बजे के बाद ग्रामीणों का घर से बाहर निकलना मुश्किल हो जा रहा है, गुलदार के खौफ से गांव और आसपास के इलाके में पूरी तरह सन्नाटा छाया है, हालांकि वन विभाग द्वारा शूटर्स तैनात किए जाने के बाद ग्रामीणों ने थोड़ा राहत की सांस ली है।

Spread the love
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed