Connect with us

उत्तराखंड

रेलवे अधिकारियों, और पुलिस प्रशासन द्वारा अतिक्रमण के सीमांकन का किया गया सर्वे।

हल्द्वानी के बनभूलपुरा क्षेत्र में रेलवे की भूमि पर किये गए अतिक्रमण के सीमांकन का सर्वे किया गया। साथ ही पुलिस, प्रशासन और रेलवे द्वारा पिलर बंदी भी की गई, हाईकोर्ट के निर्देश के बाद रेलवे ने भारी फोर्स के साथ अतिक्रमण हटाने की प्रथम कार्रवाई को अंजाम दिया। उधर रेलवे के अतिक्रमण क्षेत्र में रह रहे हजारों लोगों ने बनभूलपुरा थाने के बाहर शांतिपूर्ण तरीके से विरोध प्रदर्शन कर उनको विस्थापित करने की मांग की।
वहीं प्रशासन ने भारी फोर्स के साथ रेलवे की 78 एकड़ भूमि पर किए गए पिलर बंदी का सर्वे किया, बनभूलपुरा क्षेत्र में चप्पे-चप्पे पर भारी पुलिस फोर्स तैनात की गई है, इसके अलावा रेलवे स्टेशन में भी सुरक्षा व्यवस्था बढ़ा दी गई है।
एडीएम अशोक जोशी का कहना है कि हाईकोर्ट के निर्देश के बाद रेलवे की भूमि से अतिक्रमण हटाने की प्रक्रिया शुरू की गई है जिसमें सीमांकन के साथ ही अगले एक-दो दिनों में मुनादी और नोटिस देने की प्रक्रिया शुरू की जाएगी और एक हफ्ते बाद अतिक्रमण हटाओ अभियान चलाया जाएगा।
वही कानून व्यवस्था का पालन हो इसके लिए एसपी क्राइम डॉ जगदीश चंद्र ने बताया कि सभी जगह भारी पुलिस फोर्स तैनात की गई है, इसके अलावा अतिक्रमण हटाने के दौरान ड्रोन और वीडियो कैमरे से भी पूरी निगरानी की जाएगी, पुलिस और प्रशासन की कोशिश है कि शांतिपूर्ण तरीके से अतिक्रमण हटाया जाए, लोगों से भी शांति व्यवस्था बनाए रखने की अपील की जा रही है। गौरतलब है कि नैनीताल हाईकोर्ट ने रेलवे की अतिक्रमण की गई भूमि को एक सप्ताह के भीतर नोटिस देकर खाली कराने के निर्देश दिए हैं, 78 एकड़ भूमि पर लगभग 4365 घरों को तोड़कर यह अतिक्रमण हटाया जाना है जिसमें हजारों लोग प्रभावित होंगे। साथ ही अतिक्रमण की जद में आए लोगों के धरने को समर्थन देने के लिए स्थानीय विधायक सुमित हृदयेश और सपा नेता शोएब अहमद सहित कई नेता भी पहुंचे।
Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

More in उत्तराखंड

उत्तराखण्ड

उत्तराखण्ड

हल्द्वानी

हल्द्वानी

Trending News

Like Our Facebook Page